Breaking News

एमवीएन विश्वविद्यालय में नेशनल डी वार्मिंग डे के अवसर पर विशेषज्ञ व्याख्यान का आयोजन

होडल (विनोद वैष्णव ) | एमवीएन विश्वविद्यालय के स्कूल आफ फार्मास्यूटिकल साइंसेज के द्वारा हरियाणा सरकार द्वारा निर्धारित 8 अगस्त 2019 को नेशनल डी वार्मिंग डे के अवसर पर अल्बेंडाजोल प्रयोग के बारे में जागरूकता बढ़ाने के उद्देश्य से एक विशेषज्ञ व्याख्यान का आयोजन किया गया जिसमें एस्कॉग फार्मा कोलकाता के पूर्व महाप्रबंधक सिद्धार्थ मित्रा ने शिक्षकों एवं छात्र छात्राओं के बीच अपने अनुभव साझा किया। कार्यक्रम का शुभारंभ माता सरस्वती के समक्ष दीप प्रज्वलित करके किया गया।कार्यक्रम के प्रारंभ में फार्मेसी विभागाध्यक्ष डॉ तरुण विरमानी ने बताया कि नेशनल डीवार्मिंग डे नवजात शिशुओं और स्कूली बच्चों को परजीवी कृमि संक्रमण से संरक्षित करने के लिए और इसके प्रति लोगों में जागरूकता फैलाने के लिए प्रत्येक वर्ष 10 फरवरी एवं 8 अगस्त को मनाया जाता है। विधि विभागाध्यक्ष डॉ राहुल वार्ष्णेय ने कहा कि सर्वप्रथम इस दिवस का आयोजन वर्ष 2015 में केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा किया गया था जिसके अंतर्गत 11 राज्यों एवं संघ शासित प्रदेश के 277 जिलों के 1 से 19 वर्ष आयु के बच्चों को कवर किया गया था। मुख्य विशेषज्ञ वक्ता सिद्धार्थ मित्रा ने कहा कि अनुसंधान से यह सिद्ध हो चुका है कि कृमि संक्रमण से बच्चे मानसिक बीमारी और दौरों का शिकार हो सकते हैं जिससे बचने के लिए अल्बेंडाजोल का वर्ष में कम से कम एक बार प्रयोग करना आवश्यक है। उन्होंने कहा कि फार्मेसी शिक्षा का मुख्य उद्देश्य मानव सेवा एवं सुरक्षा है जिसके लिए छात्रों को धैर्य की आवश्यकता है, उन्हें केवल प्रोफेशनल की भांति व्यवहार नहीं करना चाहिए।इसी क्रम में प्रवक्ता अजय कुमार ने कहा कि इस दिन विद्यालयों और आंगनवाड़ी केंद्रों में बच्चों को डीवार्मिंग गोलियां अल्बेंडाजोल का वितरण निशुल्क किया जाता है। 1 से 2 साल के बच्चों को आधी खुराक दी जाती है जबकि 2 से 19 वर्ष के बच्चों को पूरी खुराक दी जाती है।कार्यक्रम के सफल आयोजन के लिए विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ जे वी देसाई एवं कुलसचिव डॉ राजीव रतन ने भूरि भूरि प्रशंसा की।इस अवसर पर रेशु विरमानी, गिरीश कुमार, गीता मेहलावत, सतवीर सिंह कयामुद्दीन, माधुरी ग्रोवर, हिदायतुल्लाह, हितेश शर्मा, मोहित मंगला, शादाब आलम, हिमांशु, डॉ सचिन गुप्ता, डॉ नन्द राम, डॉ मुकेश सैनी, डॉ पवन शर्मा, डॉ दिव्या अग्रवाल, संजय शर्मा, गौरव सैनी, आलोक श्रीवास्तव, दयाशंकर प्रसाद, महेन्द्र धानु, ववीता यादव, किशोर कुमार झा, त्रिलोक चंद शर्मा, छत्रपाल, सुभाष, विनोद कुमार, हरपाल, योगेश, राजेश आदि सभी स्टाफ छात्र-छात्राओं के साथ उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *