Breaking News

हरियाणवी बोली को भाषा का दर्जा दे सरकार : हाइफा

फरीदाबाद(विनोद वैष्णव )। हरियाणवी इनोवेटिव फिल्म एसोसिएशन (हाइफा) ने मनोहर सरकार से प्रदेश में हरियाणवी बोली को भाषा का दर्जा देने की मांग की है। हाइफा के अध्यक्ष वरिष्ठ फिल्म अभिनेता जनार्दन शर्मा ने कहा कि केंद्र सरकार ने हाल ही में देशभर में नई शिक्षा नीति को मंजूरी दे दी है। नई नीति में प्राइमरी तक मातृ भाषा या स्थानीय बोली में शिक्षा प्रदान करने की बात कही गई है। एसोसिएशन के जिला फरीदाबाद कोर्डिनेटर कुलदीप सिंह ने बताया कि हरियाणा के गठन के समय से ही यहां के लोग हरियाणवी बोली को राजकीय भाषा के रूप में मान्यता देने की गुहार लगाते रहे हैं। बोली को मान्यता न होने से प्रदेश के कलाकारों को आकाशवाणी और दूरदर्शन केंद्रों पर तवज्जो नहीं मिल पा रही है। अगर हरियाणवी को भाषा का दर्जा मिलता है तो यहां की कला-संस्कृति का बेहतर तरीके से विकास होगा और इसे विश्वभर में पहचान मिल पाएगी। फिल्म स्टार यशपाल शर्मा, निर्देशक संदीप शर्मा, कोरियोग्राफर लीला सैनी ने कहा कि हाइफा के एजेंडे में भी हरियाणवी बोली को भाषा का दर्जा दिलवाने और स्कूली स्तर पर अभिनय का विषय पाठ्यक्रम में शामिल करवाने की बात शामिल है। कुलदीप सिंह ने बताया कि एसोसिएशन के पास हरियाणवी बोली की लिपि संबंधी पूरी रूपरेखा तैयार है, जिसे अभिनेता-लेखक राजू मान एवं कवि-साहित्यकार वी.एम. बेचैन ने संग्रह किया हुआ है। अगर सरकार चाहे तो हरियाणवी बोली के मसौदे के लिए कोई आयोग गठित किया जा सकता है। इसके लिए उनकी एसोसिएशन पूर्ण रूप से साथ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *