Breaking News

एमवीएन विश्वविद्यालय के स्कूल ऑफ़ फार्मास्यूटिकल साइंसेज ने अपनी रिसर्च लैब में अनलॉक के समय का सदुपयोग करते हुए मच्छरों को भगाने के लिए मुख्यतः गाय के गोबर का प्रयोग करते हुए हर्बल धूप बनाई

होडल (विनोद वैष्णव ) | एमवीएन विश्वविद्यालय के स्कूल ऑफ़ फार्मास्यूटिकल साइंसेज ने अपनी रिसर्च लैब में अनलॉक के समय का सदुपयोग करते हुए मच्छरों को भगाने के लिए मुख्यतः गाय के गोबर का प्रयोग करते हुए हर्बल धूप बनाईI बाजारों में मच्छरों को भगाने के लिए जो भी धूपबत्ती आती है सभी जलने के पश्चात हानिकारक रसायन छोड़ती है जोकि हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत हानिकारक है उसी बात को ध्यान में रखते हुए एमवीएन विश्वविद्यालय ने यह पहल की है क्योंकि हर्बल होने के कारण यह धूपबत्ती किसी प्रकार से मनुष्य के लिए हानिकारक नहीं हैI इससे पहले भी कोविड-19 की शुरुआत के समय हर्बल सैनिटाइजर बनाया गया था जिसमें अपार सफलता प्राप्त हुई थी एवं उस सैनिटाइजर को आसपास के ग्रामों में बांटा गया था |विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ जेवी देसाई ने विभाग की इस पहल पर प्रशंसा जाहिर करते हुए कहा कि फार्मेसी विभाग हमेशा इस प्रकार से कुछ नया करता रहा है जोकि विद्यार्थियों को भी कुछ नया करने के लिए प्रेरित करता हैI विद्यालय के कुलसचिव डॉ राजीव रतन ने कहा कि इस प्रकार के कार्यों के लिए जो भी जरूरत होंगी हम मुहैया कराएंगेI विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ तरुण विरमानी ने इस हर्बल धूपबत्ती के बारे में विस्तार से बतायाI इस धूपबत्ती के उद्घाटन के समय डीन एकेडमिक्स, अकादमिक, परीक्षा नियंत्रक,अन्य विभागों के विभागाध्यक्ष एवं फार्मेसी के शिक्षण एवं गैर शिक्षण सदस्य रेशु विरमानी, मोहित संदूजा, मोहित मंगला, गिरीश कुमार, गीता मेहलावत, अनुभव, साहिल शर्मा, उमाकांत, अंजली शर्मा, अश्वनी शर्मा, त्रिलोक शर्मा, हरपाल, विनोद शर्मा एवं योगेश उपस्थित रहे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *