BREAKING NEWS
Search

 

विकास चौधरी हत्याकांड में शामिल फरार आरोपियों की गिरफ्तारी को लेकर पुलिस कमिश्रर पुलिस कमिश्रर संजय कुमार से मुलाकात कर ज्ञापन सौंपा

कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता विकास चौधरी हत्याकांड में शामिल फरार आरोपियों की गिरफ्तारी को लेकर जिले के हजारों की तादाद में कांग्रेसियों ने सेक्टर-21ए स्थित पुलिस कमिश्रर कार्यालय पर एकत्र हो शांतिपूर्ण प्रदर्शन करते हुए पुलिस कमिश्रर संजय कुमार से मुलाकात कर ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में कांग्रेसियों ने जल्द से जल्द हत्यारोपियों की गिरफ्तारी की मांग उठाई वहीं उन्होंने यह भी मांग की कि पुलिस यह भी पता लगाया जाए कि आखिर विकास चौधरी की हत्या को किसने और कैसे अंजाम दिलवाया। कांग्रेसियों ने पुलिस कमिश्रर को 15 दिन का समय देते हुए मांग की कि अगले 15 दिन में हत्यारे गिरफ्तार नहीं हुए तो मजबूरन समस्त प्रदेश के कांग्रेसियों को धरना प्रदर्शन कर पुलिस कमिश्रर कार्यालय का घेराव करने को मजबूर होना पड़ेगा

इस आंदोलन को समूचे हरियाणा प्रदेश में तेज किया जाएगा। जिस पर जिला पुलिस कमिश्रर संजय कुमार ने कांग्रेसियों को आश्वस्त किया कि वह जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लेंगे। पुलिस हत्यारों के काफी करीब पहुंच चुकी है और जल्द ही वह सलाखों के पीछे होंगे। वहीं पुलिस कमिश्रर से विकास चौधरी के भाई गौरव चौधरी व मनोज अग्रवाल को हथियारों के लाईसेंस बनवाने व बुलेट प्रूफ जैकेट प्रदान करने की अनुमति भी प्रदान की। जिला कांग्रेस कमेटी के प्रभारी एवं प्रदेश महासचिव मोहम्मद बिलाल के संयोजन में एकत्र हुए कांग्रेसियों में हरियाणा के पूर्व कैबिनेट मंत्री ए.सी. चौधरी, जिला कार्डिनेटर अनीशपाल, राजीव गांधी पंचायती राज प्रकोष्ठ के जोनल चेयरमैन डा. धर्मदेव आर्य, प्रदेश सचिव सुमित गौड़, संजय सैफी, कांग्रेस आईटी सैल प्रदेश उपाध्यक्ष मनोज अग्रवाल, पूर्व जिलाध्यक्ष गुलशन बगगा, संजय सोलंकी, मोनू ढिल्लो, वासुदेव अहेरिया, मृतक विकास चौधरी के पिता रामचंद्र चौधरी, भाई गौरव चौधरी, महिला कांग्रेस की पूर्व जिलाध्यक्ष खुशबू खान, मालवती पांचाल, सरला भामौत्रा, आशा कुमारी, सत्यवति, हरीलाल प्रधान आदि सैकड़ों की तादाद में कांग्रेसी मौजूद थे। पूर्वमंत्री ए.सी. चौधरी, जिला प्रभारी मोहम्मद बिलाल, अनीशपाल व डा. धर्मदेव आर्य ने पुलिस कमिश्रर को कहा कि कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता चौधरी की हत्या हुए एक महीना बीत चुका है, लेकिन आज तक भी मुख्य हत्यारे पुलिस गिरफ्त से बाहर है। कांग्रेसियों ने कहा कि इस हत्याकांड के बाद पूरे शहर में भय व आतंक का माहौल है, लोग डरे-सहमे जीवन यापन कर रहे है। उद्योग जगत में भी भय का माहौल है। फरीदाबाद में आए दिन कोई न कोई मर्डर होना अब आम बात सी बन गई है। इस अवसर पर भानू एडवोकेट, अनुज शर्मा, बीपी गोयल, सोनू चौधरी, अनुज शर्मा, एडवोकेट बलराज नागर, तुलसी प्रधान कृष्णा कालोनी, निशांत, रवि कृष्णा कालोनी, किशन प्रधान रामनगर, गुड्डू, इंद्रा रामनगर, लाडो, जमुना, अनिल कश्यप, लीलावती, उर्मिला पटेल नगर, जुल्फीकार दानिश एसी नगर, हाजी शरीफ मोहसीन, गुड्डू खान, हसीन अहमद बाबा नगर, राजू लकडपुर, जीते लोहिया सहित हजारों कांग्रेस कार्यकर्ता मौजूद थे।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *