Breaking News

शिक्षक आजीवन शिक्षार्थी हैं

फरीदाबाद (विनोद वैष्णव )| शिक्षक दिवस ’के रूप में मनाया जाता है, डॉ। सर्वपल्ली राधाकृष्णन, भारत के दूसरे राष्ट्रपति और एक प्रसिद्ध शिक्षक और शिक्षा के लिए उनके सराहनीय योगदान के लिए एक दार्शनिक की जयंती मनाने के लिए। यह दिन हमारे शिक्षकों को समाज में एक महत्वपूर्ण योगदान देने के लिए उनके सम्मान के लिए सही ढंग से निर्धारित किया गया है। डॉ। राधाकृष्णन का मानना था कि “शिक्षकों को देश में सबसे कुशाग्र होना चाहिए”। वास्तव में, शिक्षक आजीवन सीखने वाले होते हैं क्योंकि सीखना कभी भी न तो उनके लिए रुकता है और न ही छात्रों के लिए।
वर्तमान महामारी की स्थिति के कारण, पिछले कुछ महीनों में, भारतीय के -12 क्षेत्र में ऑफ़लाइन से लेकर ऑनलाइन सीखने की पद्धति में परिवर्तन हुआ है। आजीवन सीखने की शिक्षा का सार होने के नाते, हमने शिक्षकों को नई टेक्नोलॉजी सरलता से सीखते हुए देखा, ताकि वो अपने छात्रों को इन विषम परिस्थियों में भी सुचारु रूप से पढ़ा सके ! हम अपने सभी शिक्षकों को उनकी प्रतिबद्धता और ईमानदारी से अपने छात्रों की बेहतरी के लिए लगातार उन्नत बनाने और उन्हें उन्नत बनाने के प्रयास की सराहना करते हैं। आने वाले वर्षों में, हाइब्रिड ब्लेंडेड लर्निंग विथ फेस-टू-फेस क्लासरूम और वर्चुअल सबक ’शिक्षा का भविष्य होने की संभावना है जो हमारे छात्रों के लिए सीखने के शानदार अनुभव प्रदान करेगा। शिक्षा प्रणाली के एक अभिन्न अंग के रूप में वर्चुअल लर्निंग यहां रहना है, हालांकि शिक्षकों के साथ स्कूल की गतिविधियों के माध्यम से समग्र विकास, बच्चों की शिक्षा का अत्यंत अभिन्न अंग बना रहेगा।हम राष्ट्रीय शिक्षा नीति (NEP2020) के साथ बच्चों के मार्गदर्शन के लिए उनके अथक प्रयास के लिए हमारे शिक्षकों की सराहना करते हैं, पूरे शैक्षणिक ढांचे में बदलाव आया है और इसलिए यदि हमारे शिक्षक आजीवन शिक्षार्थी बदलावों को फिर से लागू करते हैं और फिर से परिभाषित करते हैं तो हम लाभान्वित होंगे। राष्ट्रीय शिक्षा नीति हमारे बच्चों को वैश्विक नागरिक बनाने बनाने में योगदान देगी। आचार्य के रूप में शिक्षक न केवल व्यक्तियों को सशक्त बना रहे हैं बल्कि आने वाली पीढ़ियों को भी सशक्त बना रहे हैं। इस शिक्षक दिवस पर, हम अपने सभी प्रिय शिक्षकों से आग्रह करते हैं कि वे शिक्षा के इस महान कार्य के लिए खुद को फिर से समर्पित करें। प्रत्येक बच्चे के भीतर प्रतिभा और क्षमता होती है और शिक्षक इस धन के अनलॉक करने और जीवन में उनके वास्तविक उद्देश्य की खोज करने के लिए उन्हें सशक्त बनाने के लिए उनकी अच्छी सेवा करेंगे! शिक्षकों -: आप को अनंत कल तक शिक्षार्थी बने रहने व समाज को विद्या दान करते रहने का आशीर्वाद । अध्यापक दिवस की शुभकामनाएं!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *